ईशान और श्रेयस को बाहर किए जाने से बीसीसीआई के रवैये पर उठे कई गम्भीर सवाल

Date:

Share post:

~सुहानी गुप्ता

अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाली सीरीज के लिए टीम इंडिया का चयन इन दिनों खूब चर्चा का विषय बना हुआ है। इस टीम के दो प्रमुख खिलाड़ियों – श्रेयस अय्यर और ईशान किशन को टीम से बाहर करने के कई और कारण सामने आए हैं। यह खबर क्रिकेट दुनिया में चर्चा का केंद्र बन चुकी है और इस विवाद के चलते टीम के माहौल पर भी सवाल उठ रहे हैं।

दरअसल चयनकर्ता ईशान किशन से नाराज़ थे क्योंकि उन्होंने निजी कारणों का हवाला देते हुए कुछ समय की छुट्टी मांगी थी पर उन्हें दुबई में एमएस धोनी के साथ पार्टी करते देखा गया था। वह इन्हीं दिनों एक लोकप्रिय टीवी शो में भी दिखाई दिए। उन्हें इस हरकत के कारण इस साल जून में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप की टीम से भी बाहर किया जा सकता है।

यहां दो बड़ी बातें सामने आई हैं। पहली यह कि क्या कोई खिलाड़ी अपनी मर्जी से छुट्टियां नहीं बिता सकता, उसमें बीसीसीआई की दखलंदाज़ी कितनी जायज़ है और दूसरी यह कि अगर आप परिवार के साथ वक्त बिताने की बात कहकर
छुट्टी लेते हैं तो क्या आपका दुबई जाकर पार्टी में शामिल होना कितना जायज़ है। इनमें दूसरे तर्क के लिए बीसीसीआई यह हवाला दे सकता है कि ईशान कॉन्ट्रैक्ट के खिलाड़ी हैं और जैसा बीसीसीआई चाहेगा, वैसा उन्हें करना होगा। दरअसल, साउथ अफ्रीकी दौरे पर ईशान किशन ने व्हाइट बॉल क्रिकेट में न उतरने का फैसला किया था। उन्होंने पारिवारिक कारणों का हवाला देते हुए यहां तक कहा था कि वह मानसिक तौर पर काफी थक गए हैं। इस पूरे घटनाक्रम से यही बात सामने आती है कि बीसीसीआई ने उनके इस कृत्य को अनुशासनहीन माना।

वहीं, श्रेयस अय्यर के मामले को भी अनुशासन के साथ जोड़कर देखा गया। चयनकर्ता चाहते थे कि साउथ अफ्रीका में बुरी तरह हारने के बाद श्रेयस रणजी ट्रॉफी में खेलें लेकिन उन्होंने एक समय चयन समीति का पालन करने से इनकार कर दिया और छुट्टी का आग्रह किया। इसी कारण उन्हें अफगानिस्तान सीरीज से बाहर कर दिया गया। आखिरकार श्रेयस इसके बाद ही रणजी ट्रॉफी मैच में खेलने के लिए राज़ी हुए और 12 जनवरी से आंध्र प्रदेश के खिलाफ होने वाले मैच में वह मुंबई के लिए उपलब्ध रहेंगे। इसके अलावा श्रेयस के शॉट सेलेक्शन से भी खासकर टीम मैनेजमेंट खुश नहीं था। उनका बार-बार शॉर्ट गेंदों पर आउट होना इसकी बड़ी वजह बताया जा रहा है।

हालांकि टीम में विकल्पों की कमी नहीं है और दूसरे सामने विपक्षी टीम भी अफगानिस्तान है। अगर कोई मज़बूत टीम सामने होती तो इन दोनों खिलाड़ियों का रवैया टीम के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

दूसरे दिन भारतीय बल्लेबाजी बिखरी, इंग्लैंड के पास 134 रन की बढ़त मौजूद

आशीष मिश्रा चौथे टेस्ट में भारतीय टीम मुश्किलों में फंसी नजर आ रही है। दूसरे दिन का खेल पूरी...

डेविड वॉर्नर और डेवोन कॉन्वे हुए इंजर्ड, आईपीएल 2024 से हो सकते है बाहर

आईपीएल 2024 की शुरुआत में अब एक महीने से भी कम का वक़्त बाकी है। लेकिन दो टीम...

मुंबई टीम को मुशीर खान ने अपने डबल सेंचुरी से बचाया..

18 साल के युवा मुशीर खान ने मुंबई की रणजी टीम से खेलते हुए बड़ौदा के खिलाफ क्वाटर...

बीसीसीआई के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से हटाए जा सकते है ईशान किशन और श्रेयश अय्यर

ईशान किशन और श्रेयश अय्यर के घरेलू क्रिकेट टीम में रणजी ट्रॉफी खेलने से मना करने के कारण...