कमबैक किंग है ऑस्ट्रेलिया, वर्ल्ड कप में वापसी दमदार होगी

Date:

Share post:

आस्ट्रेलियाई टीम के लिए इस वर्ल्ड कप की शुरुआत उनके औदे की मुताबिक नहीं हुई। पांच बार की विश्व चैंपियन टीम को दो पराजयों के बाद सेमीफाइनल की रेस से एकदम बाहर लिखना, भूल होगी। जिस तरह फुटबॉल में स्पेनिश क्लब रियाल मैड्रिड और आईपीएल में मुंबई इंडियंस के पास कमबैक करके चैंपियन बनने का फार्मूला है, उसी प्रकार आस्ट्रेलिया के पास भी वह मानसिकता है जो उसे जीत के रास्ते पर वापस ले आएगी। इस टीम को पता है कि बड़े टूर्नामेंट कैसे जीते जाते हैं। उदाहरण के तौरे पर  चार साल पहले 2019 में ऑस्ट्रेलिया ने लीग चरण में दो मुकाबले हारे थे लेकिन फिर भी सेमीफाइनल तक पहुंची थी या फिर 1999 में भी कंगारू टीम की शुरुआत खास नहीं रही। तब स्काटलैंड को हराने के बाद पाकिस्तान और न्यज़ीलैंड से मैच हारी लेकिन फिर वापसी की और वर्ल्ड चैंपियन बने।

ऑस्ट्रलियाई टीम मे एक से बढ़कर एक खिलाड़ी है और ज्यादातर खिलाड़ी भारतीय कंडीशंस से वाकिफ है। डेविड वार्नर और ग्लेन मैक्सवेल आइपीएल में अपनी टीमों के मुख्य खिलाड़ी हैं। आरसीबी के ओर से मैक्सवेल तो कई घरेलू बल्लेबाजों से बेहतर स्पिन खेलते हैं। कमी बस एडम ज़ैम्पा के साथ एक क्वालिटी स्पिनर की है। भारतीय कंडीशंस पर दो अच्छे स्पिनर्स किसी भी टीम के लिए जरूरी है। इंग्लैंड और अफगानिस्तान के मैच में लियाम लिविंगस्टोन और जो रूट ने मिलकर 14 ओवर फेंके जिससे यह साफ हो गया कि जिन टीम में स्पिनर्स नहीं हैं उन्हें बहुत नुकसान होने वाला है।

बहरहाल, फिर भी अगर ज़ैम्पा अकेले ही दवाब डालते हैं जैसा उन्होनें श्रीलंका मुकाबले में किया तो ऑस्ट्रेलिया के लिए राहत लेकर आएंगे। समय को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया ने अपनी मजबूती यानी फास्ट बॉलिंग और आलरांउडरों के साथ वर्ल्ड कप में शिरकत की। अनुभव की कमी कहीं कमजोरी न बन जाएं इस कारण ऑस्ट्रलिया दूसरा स्पिनर लेकर नहीं आया।

क्रिकेट एक टीम गेम है। 2015 में जब कंगारू वर्ल्ड चैंपियन बने तब हर मैच में कोई नया खिलाड़ी मैन ऑफ द मैच बनकर निकला। न्यूजीलैंड टीम अपने कप्तान केन विलियमसन के बिना खेल रहीं है लेकिन तैयारी पुख्ता है और जो उपलब्ध हैं उन्हीं से बेस्ट निकल कर आ रहा है। रचिन रवींद्र ने एक बतौर बल्लेबाज उभरे हैं और केन विलियम्सन की जगह बेहतरीन प्रदर्शन किया है। न्यूजीलैंड जिस प्रकार एक यूनिट के तौर पर अपने मुख्य खिलाड़ियों के बगैर खेल रहा है, ठीक उसी तरह आस्ट्रेलिया को खेलना होगा और वैसे भी वर्ल्ड कप खेलते कैसे हैं, ये इस टीम से बेहतर कौन जानता है। श्रीलंका के खिलाफ मैच जीतकर यह टीम जोरदार वापसी के लिए तैयार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

दूसरे दिन भारतीय बल्लेबाजी बिखरी, इंग्लैंड के पास 134 रन की बढ़त मौजूद

आशीष मिश्रा चौथे टेस्ट में भारतीय टीम मुश्किलों में फंसी नजर आ रही है। दूसरे दिन का खेल पूरी...

डेविड वॉर्नर और डेवोन कॉन्वे हुए इंजर्ड, आईपीएल 2024 से हो सकते है बाहर

आईपीएल 2024 की शुरुआत में अब एक महीने से भी कम का वक़्त बाकी है। लेकिन दो टीम...

मुंबई टीम को मुशीर खान ने अपने डबल सेंचुरी से बचाया..

18 साल के युवा मुशीर खान ने मुंबई की रणजी टीम से खेलते हुए बड़ौदा के खिलाफ क्वाटर...

बीसीसीआई के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से हटाए जा सकते है ईशान किशन और श्रेयश अय्यर

ईशान किशन और श्रेयश अय्यर के घरेलू क्रिकेट टीम में रणजी ट्रॉफी खेलने से मना करने के कारण...