क्रिकेट इतिहास में पिता-पुत्र की जोड़ी जिन्होंने अपने देश के लिए खेला वर्ल्ड कप

Date:

Share post:

वनडे वर्ल्ड कप में शुक्रवार को नीदरलैंड के बास डी लीडे ने अपने प्रदर्शन के अलावा भी सबका ध्यान आकर्षित किया। कई साल पहले इनके पिता भी वर्ल्ड कप के तीन आयोजनों में भाग ले चुके हैं। बास डी लीडे वर्ल्ड कप में खेलने वाले पिता-पुत्र के क्लब में शामिल हो गए हैं। पिता-पुत्र की वर्ल्ड कप में खेलने वाली यह सातवीं जोड़ी है। यहां हम ऐसे पिता-पुत्र के बारे में बात करेंगे जिन्होंने वर्ल्ड कप में मुकाबले खेले हैं।
डॉन प्रिंगल और डेरेक प्रिंगल विश्व कप की ऐसी पहली जोड़ी है। डॉन प्रिंगल ईस्ट अफ्रीका के लिए 1975 में वर्ल्ड कप खेले थे। वहीं उनके बेटे डेरेक प्रिंगल वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के लिए 1987 और 1992 में खेले। इसके अलावा पिता लांस केंस और बेटे क्रिस केंस न्यूज़ीलैंड के लिए खेले। लांस केंस बाएं हाथ के तेज गेंदबाज थे जिन्होंने न्यूज़ीलैंड के लिए 1975,1979 और 1983 वर्ल्ड कप में भाग लिया था। वहीं उनके बेटे क्रिस केंस बैटिंग ऑलराउंडर थे। वह 1992,1996,1999 और 2003 वर्ल्ड कप में खेले। पिता क्रिस ब्रॉड और बेटे स्टुअर्ट ब्रॉड ने इंग्लैंड के लिए ये कीर्तिमान अपने नाम किया। क्रिस ब्रॉड बाएं हाथ के बल्लेबाज थे जो 1987 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड टीम के लिए खेले लेकिन इनके बेटे स्टुअर्ट ब्रॉड ने तेज गेंदबाज के रूप में अपनी पहचान बनाई। इंग्लैंड के लिए स्टुअर्ट ब्रॉड ने 2007,2011 और 2015 वर्ल्ड कप में भाग लिया। अगली पिता-पुत्र की जोड़ी ज्योफ मार्श और बेटे मिचेल मार्श एवं शॉन मार्श हैं। ज्योफ मार्श ऑस्ट्रेलिया के लिए 1987 और 1992 वर्ल्ड कप में खेले। इनके दोनों बेटे ऑस्ट्रेलिया के लिए वर्ल्ड कप में खेले। मिचेल मार्श 2015 का वर्ल्ड कप जीतने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम के सदस्य थे। यही मिचेल मार्श इस साल ऑस्ट्रेलियाई टीम के साथ वर्ल्ड कप में खेल रहे है। वही शॉन मार्श ने 2019 वर्ल्ड कप में दो मैच खेले थे। न्यूज़ीलैंड के लिए रॉड लाथम और बेटे टॉम लाथम की दूसरी जोड़ी भी सुर्खियों में रही। रॉड लाथम 1992 वर्ल्ड कप में तो वही उनके बेटे ने 2019 वर्ल्ड कप में भाग लिया। केविन करन ने ज़िम्बाब्वे के लिए 1983 का वर्ल्ड कप खेला और इनके बेटे सैम करन इंग्लैंड के लिए इस साल वर्ल्ड कप खेल रहे हैं। इस लिस्ट में टिम डी लीडे और बास डी लीडे की जोड़ी का नाम भी जुड़ गया है। टिम डी लीडे ने नीदरलैंड के कप्तान थे जिन्होंने 1996,2003 और 2007 में नीदरलैंड की टीम से खेले। वहीं उनके बेटे बास डी लीडे ने पाकिस्तान के खिलाफ वर्ल्ड कप 2023 में अपना पहला मैच खेला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

अमेरिका-साउथ अफ्रीका के मैच के साथ ही शुरुआत होगी सुपर 8 के मुक़ाबलों की

पारखी आज से टी-20 वर्ल्ड कप-2024 में सुपर-8 के मुकाबलों का आगाज हो रहा है। इस राउंड का पहला मैच...

सुपर 8 के मैच से पहले अफगानिस्तान और वेस्टइंडीज़ को मिलेगा अच्छा अभ्यास

पारखी अफगानिस्तान के खिलाफ मंगलवार को होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप के आखिरी लीग मैच से पहले वेस्टइंडीज के...

श्रीलंका ने डेथ ओवरों की ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी से जीत लिया सबका दिल

पारखी श्रीलंका ने नीदरलैंड के खिलाफ़ मैच में शानदार प्रदर्शन किया और विश्व कप के अपने अंतिम मैच में 83...

गनीमत है कि फ्लोरिडा में एक मैच का रिज़ल्ट आ गया

पारखी नासा काउंटी की पिच से लेकर फ्लोरिडा के मैदान की दुर्दशा तक टी 20 वर्ल्ड कप में जैसा...