टीम इंडिया के पास तीनों फॉर्मेट में नम्बर वन बनने का सुनहरा मौका

Date:

Share post:

टीम इंडिया के पास दुनिया की नम्बर एक टीम बनने का सुनहरा मौका है। जल्द
ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज़ होने वाली है। इस
सीरीज़ को जीतने के साथ ही टीम इंडिया बतौर वर्ल्ड नम्बर वन टीम की
हैसियत से वर्ल्ड कप में भाग लेगी। इतना ही नहीं, यह सीरीज़ जीतते ही टीम
इंडिया तीनों फॉर्मेट की नम्बर वन टीम बन जाएगी। भारत ऐसा करने वाला
दूसरा देश बन जाएगा। साउथ अफ्रीका ने 2014 में यह कमाल किया था।

मौजूदा रैंकिंग में टीम इंडिया टेस्ट और टी-20 में नंबर वन है लेकिन वनडे
में टीम दूसरे स्थान पर है। टॉप पोजीशन पर पाकिस्तान के भी भारत के बराबर
115 अंक अंक हैं। टीम इंडिया अगर इस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हरा
देती है तो 116 अंक के साथ टीम वनडे में भी नंबर-1 बन जाएगी। ऑस्ट्रेलिया
का व्हाइटवॉश करने पर भारत 118 अंक के साथ वनडे में टॉप पर पहुंच जाएगी।
वहीं अगर ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ जीता तो टीम इंडिया नम्बर तीन पर आ जाएगी।
इससे पाकिस्तान को फायदा होगा। उस स्थिति में पाकिस्तान की बादशाहत
बरकरार रहेगी और ऑस्ट्रेलिया तब दूसरे नम्बर पर और भारत तीसरे नम्बर पर आ
जाएगा।

फिलहाल भारत आईसीसी की रैंकिंग में वनडे में दूसरे नंबर पर है जबकि
पाकिस्तान भारत के बराबर 115 अंक लेकर नंबर वन पोजिशन पर है पाकिस्तान
डेसिमल पॉइंट्स की कैलकुलेशन में भारत से आगे है।

भारत में टीम इंडिया कंगारुओं को कड़ी टक्कर देती है, लेकिन सेलेक्टर्स ने
वर्ल्ड कप से पहले टीम के कुछ सीनियर खिलाड़ियों को आराम दिया है। रोहित
शर्मा, विराट कोहली, हार्दिक पंड्या और कुलदीप यादव को सीरीज के शुरुआती
दो मैच नहीं खेलेगें। टीम के चयन से ऐसा लगता है कि टीम मैनेजमेंट अभी
नंबर-1 बनने के बारे में नहीं सोच रहा है।

कप्तान रोहित शर्मा ने कहा था, “हमारा उद्देश्य बेंच स्ट्रेंथ तैयार
करने पर है। वर्ल्ड कप से पहले किसी भी खिलाड़ी की इंजरी टूर्नामेंट के
लिए एक झटका साबित हो सकती है। क्योंकि पिछले एक-डेढ़ साल से टीम इंजरी के
दौर से गुजर रही है। वर्ल्ड कप में हमें करीब 10 से 11 मैच खेलने हैं।
ऐसे में किसी खिलाड़ी के चोटिल होने पर नए चेहरे को बिना मैच प्रैक्टिस के
सीधे वर्ल्ड कप में नहीं उतार सकते हैं।”

टीम इंडिया ने बांग्लादेश के खिलाफ पांच बदलाव किए और मुकाबला हार गई। उस
दिन भी भारत के पास बांग्लादेश को हराकर वर्ल्ड नंबर-1 बनने का मौका था,
लेकिन भारतीय टीम ने अपनी प्राथमिकता बेच स्ट्रेंथ को मौका देना समझा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

ईशान किशन की गलती टीम इंडिया के लिए बेहद महंगी साबित हुई

हर्ष राज गुवाहाटी में खेले गए तीसरे मैच में टीम इंडिया ने आखिरी दो ओवरों में 43 रन लुटा दिए...

राहुल द्रविड़ ने खोला रोहित शर्मा के टी20 वर्ल्ड कप में खेलने का रास्ता, विराट का खेलना अभी तय नहीं

अगले महीने से भारतीय टीम साउथ अफ्रीका दौरे पर जाएगी जहां टीम को तीन टी20, तीन वनडे और दो...

आखिर कैसे माने राहुल द्रविड़, जानिए इस पूरे मामले की इनसाइड स्टोरी

  कुछ दिन पहले तक राहुल द्रविड़ ने साफ कर दिया था कि वह टीम इंडिया के कोच नहीं...

टी20 फॉर्मेट में सूर्यकुमार यादव बतौर कप्तान लगातार कर रहें है प्रभावित

  ~हर्षराज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही पांच मैचों की टी20 सीरीज के लिए सूर्यकुमार यादव को कप्तानी...