नसीम की इंजरी ने खोल दिया हसन अली का वर्ल्ड कप टीम का रास्ता

Date:

Share post:

एशिया कप में पाकिस्तान को एक के बाद एक झटके लगे। उसने नंबर एक रैंक वाली वनडे टीम के रूप में प्रवेश किया था लेकिन वह फाइनल में जगह बनाने में असफल रहा। फिर एशिया कप के दौरान ही नसीम शाह इंजर्ड हो गए और अब इस तेज गेंदबाज की इंजरी ने  पाकिस्तान को अपनी विश्व कप टीम में बदलाव के लिए मजबूर कर दिया है। नसीम शाह की जगह तेज गेंदबाज हसन अली को शामिल करने के अलावा, पाकिस्तान ने फहीम अशरफ को हटाकर लेग स्पिनर उसामा मीर को टीम में जगह दी है। हालांकि इस बात की काफी अटकलें थीं कि शादाब खान टीम से बाहर किए जा सकते हैं लेकिन ऐसा नहीं हुआ। शादाब भारत आ रहे हैं।

हसन अली दोनों तरफ से सीम करने के लिए जाने जाते हैं। वह कुछ साल पहले तक पाकिस्तान टीम का अभिन्न हिस्सा थे लेकिन वह एक साल से अधिक समय से वनडे नहीं खेले हैं। 29 वर्षीय इस खिलाड़ी का शामिल होना थोड़ा आश्चर्यचकित करने वाला है क्योंकि उन्होंने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच जनवरी के पहले सप्ताह में खेला है। हालांकि हसन अली दुनिया भर में घरेलू और टी20 लीग खेल रहे हैं।

हसन अली पाकिस्तान की 2017 चैंपियंस ट्रॉफी जीत के मैन ऑफ द टूर्नामेंट थे और पाकिस्तान के लिए एक बार फिर से वैसा प्रदर्शन करने के लिए बेताब हैं। हसन अली पर पाकिस्तान के चयनकर्ता अध्यक्ष इंजमाम-उल-हक ने कहा, ”अली का अनुभव विश्व कप में काम आएगा। वह पाकिस्तान के लिए आइसीसी टूर्नामेंट खेले हैं और उनमें अच्छा प्रदर्शन किया है। हमें किसी ऐसे खिलाड़ी की जरूरत थी जो नई गेंद से गेंदबाजी कर सके। वह पुरानी और नई दोनों गेंदों से अच्छी गेंदबाजी करते हैं।”

हसन अली नसीम शाह जितने तेज़ नहीं हैं, जो लगातार 145 किमी प्रति घंटे की गति से गेंदबाजी कर सकते हैं। अगर पिच मददगार नहीं हैं तो हसन अली संघर्ष करते दिखते हैं। उन्हें सीमित ओवरों के सेटअप से बाहर किए जाने का एक मुख्य कारण उनका पुरानी गेंद से संघर्ष करना था। खासकर डेथ ओवरों में गेंदबाजी में वह महंगे साबित होते थे।

नसीम के अनुपस्थिति पर शाहीन शाह अफरीदी, हारिस रऊफ, मोहम्मद वसीम जूनियर और हसन अली के रूप में चार तेज गेंदबाजों के साथ पाकिस्तान जा रहा है। लेग स्पिनर उस्मा मीर ने इस साल की शुरुआत में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपनी पहली वनडे सीरीज में प्रभावित किया था। टीम में अनुभवी शादाब खान हैं, लेकिन उन्हें गेंद को ज्यादा टर्न कराने वाले खिलाड़ी के रूप में नहीं जाना जाता है। वह पिछले कुछ समय से साधारण गेंदबाज साबित हुए हैं और गेंद से निरंतरता के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

धर्मशाला टेस्ट के लिए जसप्रीत बुमराह की टीम इंडिया में वापसी

आयुष राज बीसीसीआई ने सात मार्च से शुरू होने वाले इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के अंतिम टेस्ट के...

वेलिंगटन में पहले टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने जड़ी सेंचुरी

आयुष राज वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने 155 गेंदों का...

न्यूज़ीलैंड ने पहले ही दिन चटका लिए ऑस्ट्रेलिया के नौ विकेट

~आशीष मिश्रा वेलिंगटन में खेले जा रहे न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले टेस्ट मैच का पहला दिन मेहमान...

धर्मशाला में यशस्वी विराट और गावसकर के रिकॉर्डों को छोड़ सकते हैं पीछे

यशस्वी जायसवाल छोटी उम्र का बड़ा खिलाड़ी बनने की ओर अग्रसर हैं। वह रांची में विराट के एक...