Indian Cricket Team को फिर से मिला 2011 WC जिताने वाला कोच

Date:

Share post:

– Shrey Arya

क्रिकेट के किसी भी फॉर्मेट में वर्ल्डकप की ट्रॉफी उठाये भारतीय टीम को एक लंबा अरसा बीत चुका है. आखिरी बार जब टीम ने यह कारनामा करके दिखाया था तब वह साल था 2011, और उसके बाद से टीम को एक भी वर्ल्डकप ट्रॉफी नसीब नहीं हुई है. इतना ही नही अब तो 11 का सूखा भी फ़ैन्स को चुभने लगा है. लेकिन ऐसा लगता है कि इस बार खुद टीम इंडिया ने भी टी20 वर्ल्डकप के लिए अपनी कमर कस ली है. और इसीलिए उन्होंने एक ख़ास कोच को भी अपने दल में अब शामिल कर लिया है.

2011 WC क्रिकेट वर्ल्डकप जिताने वाले कप्तान को किया शामिल

पैडी अप्टन को एक बार फिर भारतीय क्रिकेट टीम का मेंटल कंडीशनिंग कोच बनाया गया है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने मंगलवार को इसकी घोषणा की। अप्टन 2008 से 2011 के बीच भी टीम इंडिया के साथ मौजूद थे। उनकी देखरेख में भारत ने 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीता था। इस साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में टी-20 वर्ल्ड कप खेला जाना है। इसके बाद 2023 में भारत में वनडे वर्ल्ड कप का आयोजन होगा। इन बड़ी चुनौतियों को देखते हुए बोर्ड ने अप्टन की नियुक्ति की है।

वर्ल्ड कप जीतने की तैयारी में टीम इंडिया: मेंटल कंडीशनिंग कोच पैड अप्टन फिर टीम से जुड़ेंगे, 2011 वर्ल्ड कप के दौरान भी मौजूद थे. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने मंगलवार को इसकी आधिकारिक घोषणा की। अप्टन 2008 से 2011 के बीच भी टीम इंडिया के साथ मौजूद थे। उनकी देखरेख में भारत ने 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीता था। इस साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में टी-20 वर्ल्ड कप खेला जाना है। इसके बाद 2023 में भारत में वनडे वर्ल्ड कप का आयोजन होगा। इन बड़ी चुनौतियों को देखते हुए बोर्ड ने अप्टन की नियुक्ति की है।

साउथ अफ्रीका को भी बना चुके हैं नंबर-1 टीम

भारतीय टीम के पूर्व कोच गैरी कर्स्टन ने सबसे पहले अप्टन को अपने सपोर्ट स्टाफ में शामिल किया था। बाद में कर्स्टन साउथ अफ्रीका के कोच बने और अप्टन वहां भी उनके सपोर्ट स्टाफ में मौजूद थे। कर्स्टन और अप्टन की मौजूदगी में साउथ अफ्रीका की टीम 2013 में टेस्ट क्रिकेट की नंबर-1 टीम बनी थी। वेस्टइंडीज में टीम के साथ जुड़ चुके हैं. अप्टन ने सोमवार को ही भारतीय टीम को जॉइन कर लिया है। बताया जा रहा है कि मौजूदा भारतीय कोच राहुल द्रविड़ ने अप्टन से इस जॉब के लिए संपर्क किया था। इसके बाद उनकी BCCI अधिकारियों से बात कराई गई और अप्टन ने जॉब ऑफर को स्वीकार कर लिया। माउंटेन क्लाइंबिंग, कैनोइंग जैसे एक्स्ट्रीम स्पोर्ट्स के जरिए देते हैं ट्रेनिंग खिलाड़ियों को मानसिक रूप से मजबूत बनाने के लिए अप्टन के तरीके पहले भी चर्चा में रहे हैं।

वे खिलाड़ियों को माउंटेन क्लाइंबिंग, कैनोइंग जैसे एक्स्ट्रीम स्पोर्ट्स नें हिस्सा लेने के लिए प्रेरित करते हैं। इसके अलावा सांसों की गति पर नियंत्रण के जरिए भी वे दिमाग को शांत रखना सिखाते हैं। IPL और BBL में भी दे चुके हैं सेवाएं अप्टन पहले भी राहुल द्रविड़ के साथ काम कर चुके हैं। वे IPL में राजस्थान रॉयल्स की टीम के खिलाड़ियों की मेंटल कंडीशनिंग कर चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स को भी सेवाएं दी हैं। ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग टीम सिडनी थंडर्स के साथ भी उन्होंने काम किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

धर्मशाला टेस्ट के लिए जसप्रीत बुमराह की टीम इंडिया में वापसी

आयुष राज बीसीसीआई ने सात मार्च से शुरू होने वाले इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के अंतिम टेस्ट के...

वेलिंगटन में पहले टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने जड़ी सेंचुरी

आयुष राज वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने 155 गेंदों का...

न्यूज़ीलैंड ने पहले ही दिन चटका लिए ऑस्ट्रेलिया के नौ विकेट

~आशीष मिश्रा वेलिंगटन में खेले जा रहे न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले टेस्ट मैच का पहला दिन मेहमान...

धर्मशाला में यशस्वी विराट और गावसकर के रिकॉर्डों को छोड़ सकते हैं पीछे

यशस्वी जायसवाल छोटी उम्र का बड़ा खिलाड़ी बनने की ओर अग्रसर हैं। वह रांची में विराट के एक...