Team India की Dirty Politics ने लगभग ख़त्म किया इस खिलाड़ी का करियर

Date:

Share post:

– Shrey Arya

हर एक खिलाड़ी का सपना होता है कि वह एक दिन अपने देश के लिए खेले और टीम को जीत दिलाए. लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) का एक खिलाड़ी ऐसा भी है जिसे अपने देश के लिए खेलने का मौका तो मिल मग़र, उसका करियर राजनीति का शिकार होने के कारण लगभग खत्म होने की कगार पर पहुंच गया है. यह खिलाड़ी इतना प्रभावशाली था कि इसने अपने तीसरे ही टेस्ट मैच में तिहरा शतक जड़ दिया था, लेकिन इसके बावजूद उसका इंटरनेशनल क्रिकेट करियर लगभग खत्म हो गया है. अगर इस खिलाड़ी को मौका मिलता तो ये आज टीम इंडिया के सबसे बड़े स्टार क्रिकेटर्स में शुमार होता. लेकिन कहीं न कहीं बड़े नामों को मौका देने के पीछे सेलेक्टर्स और टीम मैनेजमेंट ने इस खिलाड़ी को नजरअंदाज कर दिया.

Team India में आने को तरस रहा यह खिलाड़ी

हम यहां पर आज बात कर रहे हैं भारतीय टीम के बल्लेबाज करुण नायर की. करुण नायर (Karun Nayar) ने अपने टेस्ट करियर के तीसरे ही टेस्ट मैच में इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम के खिलाफ तिहरा शतक जड़ दिया था. ऐसा रिकॉर्ड इससे पहले वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sahwag) के अलावा कोई भी भारतीय बल्लेबाज नहीं बना पाया था. इस तिहरे शतक के बाद ही करुण नायर के करियर की उल्टी गिनती शुरू हो गई. उस मैच में करुण को अंजिक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) की जगह टीम में मौका मिला था मगर एक बार रहाणे के फिट हो जाने के बाद उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया और ज़्यादा मौके भी नही मिले. करुण नायर को आखिरी बार साल 2017 में टीम इंडिया की ओर से खेलते हुए देखा गया था. तिहरा शतक बनाना हर टेस्ट स्पेशलिस्ट का सपना होता है. लेकिन, उनके इस योगदान को जैसे भारतीय चयनकर्ताओं ने पूरी तरह से भुला दिया.

शास्त्री और कोहली पर लगे थे गंभीर आरोप

करुण नायर को इंग्लैंड के खिलाफ साल 2018 में खेली गई टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टेस्ट टीम में शामिल किया गया था, लेकिन उन्हें पूरे दौरे पर एक भी मैच में नहीं खिलाया गया. करुण नायर ने भारतीय टीम के तब के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और कोच रवि शास्त्री पर बड़े आरोप लगाए थे. करुण नायर ने कहा था कि मैं इंग्लैंड में पांच टेस्ट मैचों की टीम में शामिल था, लेकिन प्लेइंग इलेवन में मुझे एक भी मैच में शामिल नहीं किया गया. इस दौरान ना तो मुझे कोच ना कप्तान और ना ही चयनकर्ताओं ने बताया, कि मैं टीम से क्यों बाहर हूं. मुझसे किसी ने भी कोई बात नहीं की.

पहले ही पता चल गई थी राजनीति

करुण नायर के तिहरा शतक लगाने के बाद जब प्रेस कॉन्फ्रेंस में कप्तान विराट कोहली से आने वाले मैचों के लिए उन्हें टीम में शामिल करने पर सावाल किया गया तो कोहली ने कहा कि, आप एक मैच के प्रदर्शन के दम पर किसी को टीम से अंदर या बाहर नही कर सकते. जिसके बाद से ही सभी को अंदाज़ लग गया था कि शायद इस 300 के आंकड़े के बाद भी करुण नायर को ज्यादा मौके न मिले. इतना ही नही उस वक्त तो भारतीय ओपनर मुरली विजय ने भी चयनकर्ताओं पर सवाल उठाए थे. मुरली विजय ने कहा था कि चयनकर्ताओं में संवाद की कमी हैं. वह खिलाड़ी को टीम से बाहर करने पर किसी भी खिलाड़ी को उसकी कमी नहीं बताते हैं. इससे हमें भी पता नहीं चल पाता हैं कि चयन का क्या मापदंड है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

धर्मशाला टेस्ट के लिए जसप्रीत बुमराह की टीम इंडिया में वापसी

आयुष राज बीसीसीआई ने सात मार्च से शुरू होने वाले इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के अंतिम टेस्ट के...

वेलिंगटन में पहले टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने जड़ी सेंचुरी

आयुष राज वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने 155 गेंदों का...

न्यूज़ीलैंड ने पहले ही दिन चटका लिए ऑस्ट्रेलिया के नौ विकेट

~आशीष मिश्रा वेलिंगटन में खेले जा रहे न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले टेस्ट मैच का पहला दिन मेहमान...

धर्मशाला में यशस्वी विराट और गावसकर के रिकॉर्डों को छोड़ सकते हैं पीछे

यशस्वी जायसवाल छोटी उम्र का बड़ा खिलाड़ी बनने की ओर अग्रसर हैं। वह रांची में विराट के एक...