अगर WTC का फाइनल जीतना है तो लेने होंगे ये तीन बड़े फैसले

Date:

Share post:

इन दिनों वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल के लिए टीम इंडिया को लेकर अच्छी खासी माथापच्ची चल रही है। कई खिलाड़ी टीम इंडिया की योजना का हिस्सा थे, उन्हें उससे बाहर कर दिया गया है और कुछ खिलाड़ियों को इस सूची में शामिल किया गया है। वैसे भी श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत और जसप्रीत बुमराह के उपलब्ध न होने से टीम इंडिया का संकट बढ़ गया है। ऑस्ट्रेलिया की मज़बूत टीम का सामना करने के लिए टीम इंडिया को लेने होंगे तीन बड़े फैसले।

पहला बड़ा फैसला:

वाशिंग्टन सुंदर और सूर्यकुमार यादव ऐसे ही कुछ नाम हैं जिन पर टीम का एक समय भरोसा था। बेशक सूर्यकुमार टी-20 क्रिकेट में दुनिया के नम्बर एक क्रिकेटर हों लेकिन हाल में वनडे क्रिकेट की असफलता से टीम उनके विकल्प पर विचार करने लगी है। मौजूदा विकल्पों में आजिंक्य रहाणे ही उनका जगह के लिए आदर्श विकल्प हैं, जिनके पास न सिर्फ टीम इंडिया में खेलने का लम्बा अनुभव है बल्कि विदेश में भी कई सेंचुरियां इनके नाम हैं। यहां तक कि उन्हें रेड बॉल से नेट्स पर अभ्यास करने के लिए कहा गया है। वह कुछ समय टेस्ट की तैयारियों के लिए भी निकाल ही लेते हैं। यदि रहाणे को टीम इंडिया में खेलने का फिर से मौका मिलता है तो इतना तय है कि इससे टीम की फील्डिंग में सुधार होगा। वह इस समय टीम के सबसे अच्छे स्लिप फील्डर हैं। ओवल में फाइनल मुकाबले में टीम स्लिप में खराब फील्डिंग को बर्दाश्त नहीं कर पाएगी। इस बात के मद्देनज़र रहाणे का महत्व और भी बढ़ जाता है।

अगर WTC का फाइनल जीतना है तो टीम इंडिया को लेने होंगे ये तीन बड़े फैसले
अगर WTC का फाइनल जीतना है तो टीम इंडिया को लेने होंगे ये तीन बड़े फैसले

दूसरा बड़ा फैसला:

आठवें नम्बर पर फास्ट बॉलिंग ऑलराउंडर भी टीम इंडिया की समस्या है। इस जगह के लिए टीम के पास शार्दुल ठाकुर ही एकमात्र विकल्प है। बेशक शार्दुल टीम के उपयोगी खिलाड़ी हैं लेकिन उनकी गेंदबाज़ी उस स्तर की नहीं है जो टीम इंडिया को ओवल में मज़बूती प्रदान करे। इस क्षेत्र में अन्य विकल्प हार्दिक पांड्या ही बचते हैं। क्या टीम प्रबंधन उनके साथ जाएगा। क्या हार्दिक पूरी तरह से फिट हैं। क्या वह दिन भर में 15 से 20 ओवर की गेंदबाज़ी कर सकते हैं। निश्चय ही वह शार्दुल की तुलना में बेहतर विकल्प हो सकते हैं। जिस तरह से विराट कोहली अपनी कप्तानी के दौरान बुमराह से छोटे-छोटे स्पेल में गेंदबाज़ी कराया करते थे, वही काम रोहित शर्मा को हार्दिक से कराना होगा। तभी हम मज़बूत ऑस्ट्रेलियाई टीम का सामना करने की स्थिति में होंगे।

अगर WTC का फाइनल जीतना है तो टीम इंडिया को लेने होंगे ये तीन बड़े फैसले
अगर WTC का फाइनल जीतना है तो टीम इंडिया को लेने होंगे ये तीन बड़े फैसले

तीसरा बड़ा फैसला:

केएस भरत बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज़ एक्सपोज़ हो चुके हैं। यहां केएल राहुल अच्छे विकल्प साबित हो सकते हैं। उनके कीपिंग करने की स्थिति में वह टीम में एक अतिरिक्त बल्लेबाज़ की पूर्ति करेंगे। उस स्थिति में हमारे पास मध्य क्रम में पुजारा और रहाणे के अलावा विराट और केएल राहुल जैसे ठोस बल्लेबाज़ उपलब्ध होंगे।

अगर WTC का फाइनल जीतना है तो टीम इंडिया को लेने होंगे ये तीन बड़े फैसले
अगर WTC का फाइनल जीतना है तो टीम इंडिया को लेने होंगे ये तीन बड़े फैसले

सम्भावित प्लेइंग इलेवन इस प्रकार है – रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, आजिंक्य रहाणे, केएल राहुल, रवींद्र जडेजा,  हार्दिक पांड्या/शार्दुल ठाकुर, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सीराज और उमेश यादव।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

बेन स्टोक्स- मैक्कुलम जुगलबंदी पर भारी पड़ता भारत का युवा ब्रिगेड

  पहला मैच हारने के बाद सीरीज़ अपने नाम करना अपने आप में बड़ी बात है और जब अपने...

हार कर जीतने वाले को टीम इंडिया कहते हैं, पहला मैच हारने के बाद दिखता है भारतीय टीम का जलवा

हार कर जीतने वाले को टीम इंडिया कहते हैं। टेस्ट सीरीज का पहला मैच हारने के बाद टीम...

रांची टेस्ट में रविचंद्रन अश्विन ने रचा इतिहास, महान अनिल कुंबले को पीछे छोड़ा

भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने इंग्लैंड के खिलाफ रांची में चौथे टेस्ट के दौरान एक बड़ी उपलब्धि हासिल...

जुरेल और अश्विन का कमाल, भारत को जीत के लिए सिर्फ 152 रनों की ज़रूरत

आशीष मिश्रा भारतीय टीम ने तीसरे दिन मैच पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली है। इसका श्रेय ध्रुव जुरेल...