चतुराईपूर्ण गेंदबाज़ी हो तो अश्विन जैसी….ओवल का जवाब दिया डोमिनिका में

Date:

Share post:

~दीपक अग्रहरि

ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने जिस तरह लेफ्ट हैंडेड बैटर तेजनारायण चन्द्रपाल को अपने स्पिन के चंगुल में फंसाया वो काबिलेतारीफ था। बाएं हाथ के तेज नारायण को उन्होंने आगे खींचते हुए चकमा देकर बोल्ड किया। इस तरह एक बार फिर तमिलनाडु के इस बॉलर ने साबित किया कि वह अपने अनुभव और ट्रिक्स से बेजान पिच में भी कितने असरदार हो सकते हैं। इस भारतीय ऑफ स्पिनर का कैरिबियन बल्लेबाजों के पास कोई जवाब नहीं था, जिससे पूरी वेस्टइंडीज की टीम 150 के मामूली स्कोर पर ढेर हो गई। अश्विन ने शानदार बॉलिंग करते हुए पांच विकेट चटकाए और एक बार फिर साबित किया कि क्यों वह टेस्ट प्लेइंग-11 के स्थायी सदस्य होने चाहिए। अश्विन के टेस्ट क्रिकेट में 33वीं बार पांच या इससे अधिक विकेट चटकाने का कमाल किया। इसी के साथ उन्होंने इग्लैंड के महान तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन को इस मामले में पीछे छोड़ दिया है, जिन्होंने 32 बार यह कमाल किया है।

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में अश्विन अंतिम 11 का हिस्सा नहीं थे। यह जानते हुए भी कि अश्विन का  लेफ्ट हैंडर के खिलाफ रिकॉर्ड कमाल का है और ऑस्ट्रेलियन टीम ट्रेविस हेड, उस्मान ख्वाजा और एलेक्स कैरी के रूप में बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों से भरी पड़ी थी। फिर भी उन्हें टीम में नहीं चुना गया था, जिस पर सवाल खड़े होना लाज़िमी है। इसी मैच में ट्रेविस हेड के आक्रामक रवैये ने भारतीय तेज गेंदबाजों को दबाव में डाला था। तब टीम मैनेजमेंट और कप्तान ने पिच और मैच कंडीशंस का हवाला देते हुए किए गए टीम सेलेक्शन को सही ठहराया था। 

 कहा जा सकता है कि वेस्टइंडीज के मौजूदा बल्लेबाज स्टीव स्मिथ और ट्रेविस हेड जैसे बल्लेबाजों के स्तर के नहीं हैं, इसलिए यह कहना अनुचित होगा कि ओवल में अश्विन के होने से अलग परिणाम आता। लेकिन यह ज़रूर कहा जा सकता है कि पिच से मदद न मिलने पर भी अश्विन हर तरह के कौशल का प्रदर्शन करके किसी भी आक्रमण में सकारात्मक बदलाव ला सकते हैं।

अश्विन अल्जारी जोसेफ को कैरम बॉल पर आउट करते ही 700 विकेटों क जादुई आंकड़े को छूने में सफल हो गए। ऐसा कीर्तिमान स्थापित करने वाले वह तीसरे सबसे सफल भारतीय गेंदबाज बन गए हैं । इस सूची में पहले नंबर पर अनिल कुंबले और दूसरे पर हरभजन सिंह हैं जिन्होंने क्रमशः 956 और 711 विकेट हासिल किए हैं। अब पांच विकेट चटकाने के हर मौके पर वह रंगना हैरात, अनिल कुम्बले और शेन वार्न के रूप में विश्व विख्यात स्पिनरों की बराबरी करने में सफल हो जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

धर्मशाला टेस्ट के लिए जसप्रीत बुमराह की टीम इंडिया में वापसी

आयुष राज बीसीसीआई ने सात मार्च से शुरू होने वाले इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के अंतिम टेस्ट के...

वेलिंगटन में पहले टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने जड़ी सेंचुरी

आयुष राज वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने 155 गेंदों का...

न्यूज़ीलैंड ने पहले ही दिन चटका लिए ऑस्ट्रेलिया के नौ विकेट

~आशीष मिश्रा वेलिंगटन में खेले जा रहे न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले टेस्ट मैच का पहला दिन मेहमान...

धर्मशाला में यशस्वी विराट और गावसकर के रिकॉर्डों को छोड़ सकते हैं पीछे

यशस्वी जायसवाल छोटी उम्र का बड़ा खिलाड़ी बनने की ओर अग्रसर हैं। वह रांची में विराट के एक...