प्रसिद्ध कृष्णा के IPL से बाहर होने से BCCI के फैसले पर उठे सवाल

Date:

Share post:

प्रसिद्ध कृष्णा ने राजस्थान रॉयल्स और टीम इंडिया की चिंताएं बढ़ा दी हैं। बीसीसीआई की मेडिकल टीम ने उन्हें आईपीएल के लिए ग्रीन सिगनल नहीं दिया है। राजस्थान रॉयल्स को इस खिलाड़ी से 22 मार्च से शुरू होने वाले आईपीएल में काफी उम्मीदें थीं।

प्रसिद्ध कृष्णा को क्वाड्रिसेप्ट्स इंजरी है। यह जांघ की चार बड़ी मासपेशियों में से एक के खिंचाव होने पर होती है। यही परेशानी केएल राहुल को थी जिसकी वजह से वह लम्बे समय तक क्रिकेट नहीं खेल पाए थे। कृष्णा का इस तरह से आईपीएल से बाहर होना बीसीसीआई के उस फैसले पर भी सवाल उठाता है जिसमें बीसीसीआई के कॉन्ट्रैक्ट वाले खिलाड़ियों या नैशनल टीम में अपनी सेवाएं दे रहे खिलाड़ियों के लिए रणजी ट्रॉफी में खेलना अनिवार्य कर दिया गया था। कृष्णा 12 जनवरी को गुजरात के खिलाफ मैच में उतरे थे। सवाल यह है कि जिन जसप्रीत बुमराह को वर्कलोड मैनेजमेंट सीरीज़ के सभी टेस्ट खेलने से मना करता है तो फिर प्रसिद्ध कृष्णा को घरेलू क्रिकेट में उतारा जाना भी उचित नहीं है। खबर है कि यहीं से उनकी इंजरी और ज़्यादा बढ़ गई थी।

प्रसिद्ध कृष्णा भी टीम इंडिया के लिए तीनों फॉर्मेट खेलते हैं। वह अब तक दो टेस्ट, 17 वनडे और पांच टी-20 खेल चुके हैं। उनकी गेंदबाज़ी की रफ्तार टीम इंडिया के लिए बड़ी उम्मीद है। सवाल यह है कि भारत के पास आज बुमराह और सिराज के अलावा एक भी नियमित तेज़ गेंदबाज़ नहीं है कि जिस पर आंख बंद करके भरोसा किया जा सके। हालांकि इस लाइन में मुकेश कुमार और आकाशदीप ने उम्मीदें जगाई हैं लेकिन क्या ये गेंदबाज़ विदेशी ज़मीन पर बुमराह और सिराज के तीसरे पार्टनर की भूमिका निभा पाएंगे, इसी पर सबकी नज़रें टिकी हैं। वैसे मोहम्मद शमी एक तीसरा विकल्प ज़रूर हैं लेकिन एड़ी के ऑपरेशन के बाद उनके लिए फिटनेस सबसे बड़ी चुनौती है। ऐसी स्थिति में प्रसिद्ध कृष्णा पर सबकी निगाहें टिकना स्वाभाविक है। साउथ अफ्रीका में उन्हें पिछले दौरे में बेशक ज़्यादा विकेट नहीं मिले लेकिन उन्होंने बीच-बीच में प्रभावित किया था। उनकी इंजरी की वजह से ही इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ में उनके नाम पर विचार नहीं किया गया।

राजस्थान रॉयल्स की ओर से प्रसिद्ध कृष्णा ने 2022 के आईपीएल में 17 मैचों में 19 विकेट हासिल किए थे। उनका औसत और इकॉनमी भी ठीक-ठाक है। इस टीम में अब रफ्तार के मामले में कुलदीप सेन ही एकमात्र पेसर बचे हैं क्योंकि टीम के बाकी स्पीडस्टर – ट्रेंट बोल्ट, संदीप शर्मा और जेसन होल्डर स्पीड से ज़्यादा स्विंग पर केंद्रित हैं। युवा पेसर केएम आसिफ एक अन्य तेज़ गेंदबाज़ हैं। ज़ाहिर है कि प्रसिद्ध कृष्णा की कमी टीम को खलने वाली है। उनकी फिटनेस पर टीम इंडिया की भी उम्मीदें टिकी हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

गौतम गम्भीर ने कहा – खिलाड़ियों को खेलने चाहिए तीनों फॉर्मेंट

दक्ष अरोड़ा गौतम गंभीर अपने कार्यकाल में कुछ अहम फैसले लेना चाहते हैं। सबसे पहले उन्होंने भारतीय क्रिकेटरों से...

और अब इंडिया Vs पाकिस्तान….इंडिया चैम्पियंस ने सेमीफाइनल में लिया ऑस्ट्रेलिया चैम्पियंस से हार का बदला

नितेश दूबे इंडिया चैम्पियंस ने ऑस्ट्रेलिया चैम्पियंस को 86 रन से हराकर न सिर्फ लीग मुक़ाबले में अपनी हार...

रिंकू सिंह ने रचा इतिहास, तोड़ा रवींद्र जडेजा का रिकॉर्ड

भारतीय क्रिकेट में एक नया इतिहास रचते हुए रिंकू सिंह ने अपने टी20 करियर में एक अनोखा कारनामा...

PAK चैम्पियंस की टीम WI चैम्पियंस पर एक और जीत के साथ फाइनल में

नितेश दूबे cवेस्ट इंडीज चैम्पियंस ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाज़ी करने का फ़ैसला किया जिसके बाद पाकिस्तान चैम्पियंस...