बदले-बदले से दिखे शार्दुल ठाकुर, गेंद और बल्ले से दिखाया दम

Date:

Share post:

आयुष राज

ऑलराउंडर शार्दुल ठाकुर को कभी टीम इंडिया का लकी खिलाड़ी कहा जाता था। उनके आलोचक तो यहां तक कहते थे कि टीम में अन्य फास्ट बॉलिंग ऑलराउंडर न होने का उन्हें फायदा हो रहा है लेकिन तमिलनाडु के खिलाफ रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल में शार्दुल ने अपने शानदार खेल से आलोचकों का मुंह बंद करा दिया।

शार्दुल ने शानदार सेंचुरी बनाई, जो इससे पहले उन्होंने फर्स्ट क्सास क्रिकेट में इससे पहले कभी नहीं बनाई थी। हालांकि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वह तीन हाफ सेंचुरी टीम इंडिया के लिए बना चुके थे। उनकी सेंचुरी का महत्व इसलिए भी अधिक है क्योंकि यह उन्होंने टीम की बेहद नाजुक स्थिति में बनाई।

यह शार्दुल का 11वां रणजी ट्रॉफी सीजन है।  उन्होंने 2012-13 के सत्र में मुंबई टीम की ओर से अपना पहला फर्स्ट क्लास मुकाबला खेला था। शार्दुल ठाकुर ने जब मुंबई टीम के लिए खेलना शुरू किया था तब उन्हें बल्लेबाजी दसवें या 11वें नंबर पर मिलती थी जिसकी वजह से वह अपनी बल्लेबाजी की प्रतिभा नहीं दिखा पाते थे। उनका चयन जब भारतीय टीम में हुआ तो उन्हें पहली बार आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने का मौका मिला जिसका उन्होंने भरपूर फायदा उठाया जिसकी वजह से वह अच्छे ऑलराउंडर खिलाड़ियों में से एक माने जाने लगे।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के बाद शार्दुल को भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया क्योंकि वह गेंदबाजी से बल्लेबाज पर कोई भी प्रभाव नहीं डाल पा रहे थे और साथ ही गेंद से रनों के मामले में काफी महंगे भी साबित हुए थे। शार्दुल की घरेलू क्रिकेट में वापसी होने के बाद उनकी गेंदबाजी में बहुत बदलाव आया है। रणजी के इस सीजन में उन्होंने गेंदबाजी काफी नियंत्रण से की है और साथ ही गेंदबाजी के दौरान रन भी बहुत कम खर्च किए है। शार्दुल नई गेंद से दोनों दिशाओं में गेंद को स्विंग करवा रहे थे जिससे उन्होंने बल्लेबाजों को काफी परेशान किया है। उन्होंने ज्यादातर गेंदबाजी चौथे या पांचवें स्टम्प के दायरे में की जिससे आउटस्विंग गेंदों से उन्होंने बल्लेबाजों को परेशान किया और साथ ही बैक फुट पर बल्लेबाजी करने पर मजबूर किया। कई कई मौकों पर वह इनस्विंग गेंद से भी कहर बरपाते दिखाई दिए।

तमिलनाडु के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में शार्दुल ठाकुर के बढ़िया ऑलराउंडर प्रदर्शन से मुंबई टीम ने इस वर्ष के रणजी ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में प्रवेश कर लिया है। उनका यह फॉर्म आईपीएल में भी देखने को मिल सकता है जो उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स के लिए एक अच्छी खबर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

गौतम गम्भीर ने कहा – खिलाड़ियों को खेलने चाहिए तीनों फॉर्मेंट

दक्ष अरोड़ा गौतम गंभीर अपने कार्यकाल में कुछ अहम फैसले लेना चाहते हैं। सबसे पहले उन्होंने भारतीय क्रिकेटरों से...

और अब इंडिया Vs पाकिस्तान….इंडिया चैम्पियंस ने सेमीफाइनल में लिया ऑस्ट्रेलिया चैम्पियंस से हार का बदला

नितेश दूबे इंडिया चैम्पियंस ने ऑस्ट्रेलिया चैम्पियंस को 86 रन से हराकर न सिर्फ लीग मुक़ाबले में अपनी हार...

रिंकू सिंह ने रचा इतिहास, तोड़ा रवींद्र जडेजा का रिकॉर्ड

भारतीय क्रिकेट में एक नया इतिहास रचते हुए रिंकू सिंह ने अपने टी20 करियर में एक अनोखा कारनामा...

PAK चैम्पियंस की टीम WI चैम्पियंस पर एक और जीत के साथ फाइनल में

नितेश दूबे cवेस्ट इंडीज चैम्पियंस ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाज़ी करने का फ़ैसला किया जिसके बाद पाकिस्तान चैम्पियंस...