रणजी के पहले मैचों में ही चला पुजारा, रिंकू और पड्डिकल का बल्ला

Date:

Share post:

 

घरेलू क्रिकेट में रणजी सीजन की शुरुआत हो चुकी है। रणजी में भारतीय टीम के कुछ बडे़ खिलाड़ी भी अपनी राज्यों की टीम से खेलते हुए दिखे। जो अभी मुकाबले चल रहे हैं, वहां पर कुछ बड़े खिलाड़िय़ों ने शानदार प्रदर्शन किया है जिन पर एक-एक करके नजर डालते हैं-

 रिंकू सिंह

उत्तर प्रदेश का सामना केरल से चल रहा है जिसमें उत्तर प्रदेश ने पहले बैंटिग करते हुए 302 रन बनाए हैं। एक समय उप्र 124 रनों पर अपनी आधी टीम खो चुका था और उस पर जल्द ही ऑल आउट होने का खतरा मंडरा रहा था लेकिन इस बीच रिंकू सिंह और ध्रुव जुरेल की जोड़ी ने मोर्चा संभालते हुए एक बेहतरीन पार्टनरशिप को अंजाम दिया। रिंकू सिंह ने अपनी सेंचुरी तो नहीं पूरी कर पाए लेकिन 92 रनों की पारी खेलते हुए उन्होंने दिखाया कि वह केवल टी-20 तक ही सीमित नहीं है। उनके खेल में अन्य आयाम भी हैं जिन्हें वह जरूरत पड़ने पर आजमा सकते हैं। रिंकू ने अपने टेम्परामेंट से यह दिखाया है कि वह वनडे में भी अपनी उपयोगिता साबित कर सकते हैं।

देवदत्त पड्डिकल

कर्नाटक के बाएं हाथ के युवा बल्लेबाज़ का घरेलू क्रिकेट में लगातार शानदार प्रदर्शन जारी है। इस रणजी सीजन के पहले मैच में देवदत्त ने पंजाब के खिलाफ 193 रनों की मैराथन पारी खेली है। वह अनलकी रहे और डबल सेंचुरी नहीं पूरी कर पाए। देवदत्त के इस बेहतरीन आगाज़ से उम्मीद की जा सकती है कि वह इस सीज़न में रनों का पहाड़ बना सकते हैं। इससे पहले  इस युवा बल्लेबाज ने विजय हजारे ट्रॉफी में पांच मैच खेलते हुए 155 के औसत से 465 रन बनाए थे। इस दौरान पड्डिकल ने दो सेंचुरी और तीन हाफ सेंचुरी भी जड़ी थीं।

चेतेश्वर पुजारा

झारखण्ड और सौराष्ट्र के बीच खेले जा रहे है मुकाबले में दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक पुजारा 157 रनों की पारी खेल चुके हैं। रविवार को वह इस पारी को और बड़ी कर डबल सेंचुरी की ओर बढ़ेंगे। पुजारा की मैराथन पारी की बदौलत सौराष्ट्र ने झारखंड पर 264 रनों की बढ़त बना ली है। पुजारा डब्ल्यूटीसी फाइनल के बाद भारतीय टीम का हिस्सा नहीं हैं। डब्ल्यूटीसी फाइनल में हार के बाद टीम में कुछ खिलाड़ियों के खराब प्रदर्शन के चलते उनकी टीम में  मौजूदगी पर सवाल उठे थे जिसके बाद बीसीसीआई ने पुजारा सहित कुछ अन्य सीनियर खिलाड़ियों को टेस्ट सेटअप से ही हटा दिया था। पुजारा लगातार घरेलू क्रिकेट खेल रहे हैं और इस तरह का प्रदर्शन भारतीय टीम में उनके लिए एक बार फिर दरवाजे खोल सकता है।

इसके अलावा मनीष पांडे ने भी सैकड़ा जड़ते हुए 118 रनों की पारी खेली वहीं कुलदीप यादव और रवि बिश्नोई ने क्रमशः तीन और चार विकेट हासिल किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

दूसरे दिन भारतीय बल्लेबाजी बिखरी, इंग्लैंड के पास 134 रन की बढ़त मौजूद

आशीष मिश्रा चौथे टेस्ट में भारतीय टीम मुश्किलों में फंसी नजर आ रही है। दूसरे दिन का खेल पूरी...

डेविड वॉर्नर और डेवोन कॉन्वे हुए इंजर्ड, आईपीएल 2024 से हो सकते है बाहर

आईपीएल 2024 की शुरुआत में अब एक महीने से भी कम का वक़्त बाकी है। लेकिन दो टीम...

मुंबई टीम को मुशीर खान ने अपने डबल सेंचुरी से बचाया..

18 साल के युवा मुशीर खान ने मुंबई की रणजी टीम से खेलते हुए बड़ौदा के खिलाफ क्वाटर...

बीसीसीआई के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से हटाए जा सकते है ईशान किशन और श्रेयश अय्यर

ईशान किशन और श्रेयश अय्यर के घरेलू क्रिकेट टीम में रणजी ट्रॉफी खेलने से मना करने के कारण...