वर्ल्ड कप से पहले चमके कुलदीप यादव, वेस्टइंडीज के खिलाफ 6 रन दे झटके 4 विकेट

Date:

Share post:

भारतीय क्रिकेट टीम टेस्ट सीरीज में जीत के बाद वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में खेलने उतरी। बारबाडोस के पहले वनडे में कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी। गेंदबाजों ने घातक प्रदर्शन करते हुए पूरी विंडीज टीम को महज 114 रन पर समेट दिया। कुलदीप यादव ने कहर ढाया और सिर्फ 6 रन देकर 4 विकेट चटकाए। वर्ल्ड कप से पहले चाइनामैन का इस फॉर्म में आना टीम के लिए अच्छी खबर है। 2019 वर्ल्ड कप तक कुलदीप टीम इंडिया के प्रमुख स्पिनर थे। लेकिन उनके बाद टीम से अंदर बाहर होने लगे। उनके प्रदर्शन में भी निरंतरता की कमी आ गई थी। टेस्ट और टी20 में भी उनकी स्थिति यही थी। लेकिन इस कुलदीप यादव कमाल का प्रदर्शन कर रहे हैं। जनवरी में श्रीलंका के खिलाफ युजवेंद्र चहल के अनफिट होने की वजह से कुलदीप को प्लेइंग इलेवन में मौका मिला था। तब से उन्होंने इस जगह पर कब्जा जमा लिया है। उनकी वजह से चहल वनडे की प्लेइंग इलेवन से बाहर हैं।

वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम पर तीन मैचों की सीरीज के पहले वनडे में भारतीय गेंदबाज कहर बनकर टूटे। तेज गेंदबाज ने शुरू की और फिर स्पिनर ने अपना जादू चलाया। हार्दिक पंड्या ने टीम को पहली सफलता दिलाई इसके बाद डेब्यू कर रहे मुकेश कुमार और फिर शार्दुल ने टीम को झटका दिया। रवींद्र जडेजा ने एक ही ओवर में दो विकेट झटके लेकिन असली खेल कुलदीप यादव के आने के बाद चालू हुआ। भारतीय टीम वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज का पहला मुकाबला खेल रही है। इसमें कुलदीप यादव को भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने काफी देरी से गेंदबाजी दी। वह छठे गेंदबाज के रूप में बॉलिंग करने आए लेकिन सबसे ज्यादा विकेट ले लिए। अपने तीन ओवर में स्पेल में कुलदीप ने दो मेडन फेंके। इस दौरान उन्होंने सिर्फ 6 रन दिए और वेस्टइंडीज के 4 बल्लेबाजों को आउट किया। इसमें कप्तान शाई होई का भी विकेट शामिल था। होप ने वेस्टइंडीज के लिए सबसे बड़ी 43 रनों की पारी खेली। वेस्टइंडीज की पारी सिर्फ 114 रनों पर सिमट गई। यह कुलदीप यादव के वनडे करियर का दूसरा सबसे बेहतरीन स्पेल है। उन्होंने 2018 में इंग्लैंड दौरे पर 25 रन देकर 6 विकेट लिए थे। अब 6 रन देकर 4 विकेट लिए हैं। वैसे तो भारतीय स्पिनर का प्रदर्शन एशिया में ज्यादा अच्छा रहता है। बाहर जाते उनका असर कम हो जाता है। लेकिन कुलदीप यादव के साथ ऐसा नहीं है। उन्होंने अभी तक वनडे में 7 बार पारी में 4 या उससे ज्यादा विकेट लिए हैं। इसमें सिर्फ एक बार भी उन्होंने घर में ऐसा किया है। बाकी सभी एशिया के बाहर आए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज बढ़ा सकते हैं भारत का इंतजार

इस आइसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारतीय बल्लेबाजों को जिन चुनौतियों से पार पाना होगा उनमें से एक...

क्या इंग्लैंड में फिर है चैंपियन बनने की ताकत, लेकिन टीम में कमजोरियां भी कम नहीं

पांच अक्टूबर को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में वर्ल्ड कप 2023 की शुरुआत होगी। पहले ही मैच...

इंग्लैंड के लिए वर्ल्ड कप में अहम होगें ब्रूक

पांच अक्टूबर से इंग्लैंड अपने वर्ल्ड कप खिताब को बचाव रखने के इरादे से उतरेगा। अनुभवी बेन स्टोक्स...

वर्ल्ड कप में मौजूदा खिलाड़ियों में सबसे सफल बल्लेबाज और गेंदबाज

वन डे वर्ल्ड कप के इतिहास में सबसे सफल बल्लेबाज की अगर बात करे तो सचिन तेंडुलकर का...