हार्दिक के यश ने बताई जीत की कहानी

Date:

Share post:

– आकाश मिश्रा, 3rd June :

IPL 2022 में तेज गेंदबाजों का बोल बाला रहा, उसी तेज गेंदबाजों में से एक गुजरात टाइटंस के शानदार गेंदबाज यश दयाल का नाम आजकल चर्चाओं में है, यश दयाल एक ऐसे शहर से हैं, जहां एक समय क्रिकेट ऐसा खेला जाता था, की 30 ओवर में 300 रन बनते थे….. उस शहर का नाम है इलाहाबाद, यहां से क्रिकेटर बहुत सारे निकल के आ रहे हैं, उन्ही में से एक बाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं यश जिन्होंने IPL2022 में धूम मचा दी.
IPL 2015 सीजन की नई टीम गुजरात टाइटंस ने ट्रॉफी जीत ली,टीम के जीत में यश दयाल का भी योगदान था,यश एक ऐसे परिवार से हैं जहां क्रिकेट उनको बचपन से उनके सामने देखने को मिला है, टीम के कोच और कप्तान का भरोसा कायम रखा यश ने,और IPL 2022 में एक अच्छा नाम कमाया
ITV GROUP के खेल संपादक राजीव मिश्रा जी से खास बातचीत में यश ने अपनें टीम गुजरात टाइटंस को लेकर कहा कि हमारी टीम के उपर लोगो ने ऑक्शन के वक्त कई सवाल उठाए थे, खिलाड़ियों को लेकर भी लोगो ने बहुत कुछ कहा, लेकिन हम फाइनल में पहुंच कर ,IPL ट्रॉफी जीतकर हमने साबित कर दिया की हम बेस्ट हैं, बातचीत के दौरान यश ने यह भी कहा की टीम के हेड कोच आशीष नेहरा सर को मैं बहुत बड़ा क्रेडिट देना चाहूंगा, क्योंकी उन्होंने किसी भी खिलाड़ी के उपर दबाव नही बनाया और हर एक खिलाड़ी पर भरोसा दिखाया, आशीष नेहरा को यश ने बताया कि वो उनके बहुत ज्यादा करीबी हैं, नेहरा उनको स्पोर्ट भी करते हैं.

हमारे खेल संपादक से बातचीत के दौरान यश ने बताया की कोच आशीष सर मेरे लिए एक ब्लेसिंग की तरह हैं,वह मेरे पिता जैसे हैं, वो नेट प्रैक्टिस के दौरान हमेशा मुझसे कहते थे कि जो तुमने रणजी में प्रदर्शन किया है वो तुमको अब यहां करना है, अपना बेस्ट देना है, तुम्हारे उपर कोई दबाव नहीं है, बस फोकस करो.
बातचीत के दौरान यश ने आईपीएल सीजन को एक सपने जैसा बताया, कहा – मैने कभी नहीं सोचा था की मै इस लेवल तक पहुंच पाऊंगा
वही अगर IPL 2022 में यश दयाल के प्रदर्शन की बात करे तो अपने पहले ही सीजन में यश ने 9 मैचों मे 9.25 के इकॉनामी के साथ 11 विकेट लिएं
अपने टीम के कप्तान हार्दिक पांड्या को लेकर यश ने कहा, कि मै कोच और कप्तान के साथ बैठा करता था और प्लान करता था, उससे मुझको ग्राउंड में काफी मदद मिलती थी की बल्लेबाज को कैसी गेंद डालनी है, जितना ज्यादा ग्राउंड में बातचीत नही होती थी उतना ज्यादा ऑफ द फील्ड बात होती थी, उससे मुझे काफी मदद मिली.

बातचीत के दौरान यश ने एक खुलासा किया की IPL सीजन 15 में सबसे मुश्किल बल्लेबाज उनको राजस्थान के जोश बटलर लगें, जिनको बॉलिंग करना मुश्किल था, क्योंकि इनका खेलने का तरीका सबसे अलग था, यश ने एक यह भी खुलासा किया की उनकी टीम गुजरात टाइटंस के बल्लेबाज शुभम गिल और डेविड मिलर सबसे मुश्किल बल्लेबाज हैं.
अपने बारे में बातचीत के दौरान यश ने कहा कि बचपन में मैं अपने पिताजी को गेंबाजी करते हुए देखा करता था, तो मैंने सोच लिया था की मैं अपने पिताजी जैसे, अपने मामा जी जैसे तेज गेंदबाज बनूंगा और भारत के लिए खेलूंगा,

यश ने नाम भी कमाया ,उनकी टीम भी जीती, कोच और कप्तान का भरोसा भी जीता, अब देखना होगा कि भारतीय टीम की नीली जर्सी में यश कब नजर आते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

धर्मशाला टेस्ट के लिए जसप्रीत बुमराह की टीम इंडिया में वापसी

आयुष राज बीसीसीआई ने सात मार्च से शुरू होने वाले इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के अंतिम टेस्ट के...

वेलिंगटन में पहले टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने जड़ी सेंचुरी

आयुष राज वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने 155 गेंदों का...

न्यूज़ीलैंड ने पहले ही दिन चटका लिए ऑस्ट्रेलिया के नौ विकेट

~आशीष मिश्रा वेलिंगटन में खेले जा रहे न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले टेस्ट मैच का पहला दिन मेहमान...

धर्मशाला में यशस्वी विराट और गावसकर के रिकॉर्डों को छोड़ सकते हैं पीछे

यशस्वी जायसवाल छोटी उम्र का बड़ा खिलाड़ी बनने की ओर अग्रसर हैं। वह रांची में विराट के एक...