कप्तान पंत पर आया, कोच द्रविड़ को ताव

Date:

Share post:

– Akash Mishra


भारतीय टीम की सीरीज भी दाव पर है और शाख भी दाव पर है, लगातार 2 T 20 मैच हारने के बाद अब भारतीय टीम पर सीरीज हारने का खतरा मंडरा रहा है और साथ ही अपनी सरजमीं पर यानी की अपने मैदानों पर खराब प्रदर्शन को लेकर कई तरह के सवाल भी उठ रहे हैं, साथ ही ऋषभ पंत की कप्तानी को भी लेकर सवाल उठ रहे हैं, वही युजवेंद्र चहल जिस तरह की गेंदबाजी कर रहें हैं उसको लेकर सवाल उठ रहे हैं, और उससे भी ज्यादा जो सवाल उठ रहे हैं वो द्रविड़ के जिद को लेकर उठ रहे हैं, क्युकी अब फैंस को दर्शल जिद नही जीत चाहिए,और जीतेंगे तभी जब आप सीरीज के रेस में बने रहेंगे, एक और हार ना सिर्फ आपको सीरीज से बाहर कर देगी, बल्कि दक्षिण अफ्रीका को जीत दिला देगा, जहां पर अफ्रीकी टीम इतिहास रचते नजर आएगी


ITV GROUP से बातचीत में पूर्व क्रिकेटर सबा करीम ने कहा कि मुझे नही लगता की यह जिद है, क्योंकि जिस तरह से सोच राहुल द्रविड़ की रहती है ,किसी भी कप्तान को होगी की आपको कम से कम एक या दो मैचों में उसी टीम के साथ आपको मैदान में उतरना चाहिए ,क्योंकि पहला मैच जो हम लोग कोटला में हारे उसमे भारतीय टीम की तरफ से ज्यादा कुछ गलतियां नही देखने को मिली,यह अलग बात है की हम लोग 211 रन बनाने के बाद भी हम लोग मैच जीत नही पाएं, लेकिन आपको अपने खिलाड़ियों को बैक करना होगा, और दूसरे मैच में प्रयास यहीं था, अब यह अलग बात है की बहुत ट्रिकी सर्फेस पर जहा पर बल्लेबाजी बिलकुल आसन नहीं थी, लेकिन साउथ अफ्रीका टीम की बल्लेबाजी बहुत अच्छी थी जिससे बहुत आसानी से दक्षिण अफ्रीका ने वो मैच जीत लिया


बातचीत के दौरान पूर्व क्रिकेटर ने यह भी कहा की टीम इंडिया की समस्या यह है की मिडल ऑर्डर में विकेट टेकर के लिए कोई गेंदबाज नजर नहीं आ रहा है,और इस समय भुवनेश्वर कुमार शानदार फॉर्म में हैं, और यह एकमात्र ऐसा गेंदबाज है को गेंद को घुमा रहा है, और कंडीशंस जैसे भी हो उनको सफलता मिल रही है, उसके साथ साथ आपको बैकअप गेंदबाज भी चाहिए ,जो की आपको मिडल ओवर में विकेट लेकर दें सके.


सबा ने यह भी कहा की सात मैच हो गए हैं जहा पर साउथ अफ्रिका ने हमे तीनो फॉर्मेट में हराया है, इसका मतलब यहीं है की वह घर पर भी अच्छे तरह से खेल रहे हैं और एक जीत का फॉर्मूला उन्होंने अपना लिया है उसके साथ साथ जब वह बाहर आ रहे हैं और यहां पर भी उनका प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है. और अंत में हमको टीम ऐसी बनानी होगी जो वर्ल्ड कप में हम अच्छा करें, अब देखना यह है की भारतीय टीम के क्या कुछ सोच में परिवर्तन आता है, क्या बॉलिंग में कुछ नया चेहरा देखने को मिलेगा ,क्योंकि 2 मैच में भारत अपने अनुभव गेंदबाजों को खिला कर के हार गई है, और मौका भी है की आप युवाओं को आज होने वाले मैच में खिलाएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

साउद शकील ने जगाई पाकिस्तान को मध्य क्रम में बड़ी उम्मीद

जिस बल्लेबाज़ ने पिछले दिनों टेस्ट क्रिकेट में धाकड़ आगाज़ किया हो और सिर्फ सात टेस्ट में एक...

वर्ल्ड कप जीत तय करेगी राहुल द्रविड़ कोचिंग करिअर को

राहुल द्रविड़ के लिए यह वर्ल्ड कप बहुत खास है। द्रविड़ एक खिलाड़ी और कप्तान के रूप में...

वर्ल्ड कप 2023 में अपने पहले मैच में नहीं दिखेंगे न्यूजीलैंड औरबांग्लादेश के कप्तान

न्यूज़ीलैंड को वर्ल्ड कप का उद्घाटन मैच इंग्लैंड से पांच अक्टूबर कोखेलना है लेकिन इससे पहले ही न्यूजीलैंड...

ऑस्ट्रेलिया ने वर्ल्ड कप के लिए टीम का किया ऐलान, एश्टन एगर को बाहर कर मार्नस लाबुशेन को मिला मौका

ऑस्ट्रेलिया ने वर्ल्ड कप 2023 के लिए टीम का ऐलान कर दिया है। इंजरी के कारण ऑस्ट्रेलिया को...