Team India को मिल गया है MS Dhoni जैसा एक और कप्तान !!

Date:

Share post:

– श्रेय आर्य 2nd June :

IPL 2022 में अपनी शानदार कप्तानी से गुजरात टाइटन्स को चैम्पियन बनाने के बाद हार्दिक पंड्या इस समय सबके पसंदीदा खिलाड़ी बन चुके हैं. सीजन 15 में अपने प्रदर्शन से सबका दिल जीतने वाले हार्दिक पंड्या को लेकर टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर संजय मांजरेकर ने भी अब एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने एक बातचीत के दौरान कहा कि, हार्दिक की कप्तानी में धोनी की छवि दिखती है. गुजरात टाइटंस पहली बार IPL में हिस्सा ले रही थी और हार्दिक की कप्तानी में चैंपियन बन गई. फिलहाल के लिए तो रोहित शर्मा ही भारतीय टीम के कप्तान हैं, लेकिन आने वाले वक्त में उनके बाद एक नया खिलाड़ी भी हमे तैयार रखना होगा.

गेंद और बल्ले दोनों से दिखाया दम

वैसे देखा जाए तो IPL एक मुश्किल टूर्नामेंट है और पहली बार की कप्तानी में ही इसे जीतना बिल्कुल भी आसान नहीं. खास कर तब जब आपने इससे पहले कप्तानी नही की हो. हार्दिक ने न सिर्फ कप्तानी मे अपना दमखम दिखाया है बल्कि वह बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में भी अच्छा कर रहे थे. हार्दिक पंड्या पर मांजरेकर ने कहा, ‘फाइनल मुकाबले में हार्दिक ने अच्छी गेंदबाजी के साथ साथ कप्तानी भी अव्वल दर्जे की रखी.’

फील्ड पर दिखती है धोनी की झलक

उन्होंने महत्वपूर्ण 4 नंबर पर खेलते हुए पूरे सीजन शानदार बल्लेबाजी की. उनकी कप्तानी में धोनी की झलक थी, वह हर मैच में काफी शांत नजर आए और टीम की जरूरत के अनुसार निर्णय लिए. ऐसा लग रहा था कि वह कप्तानी का आनंद ले रहे थे और बहुत शांत दिख रहे थे. ऐसा तो धोनी ही करते हैं. फील्डिंग और बॉलिंग में बदलाव भी धोनी की तरह करते हैं. मांजरेकर ने आगे कहा कि पंड्या जिस तरह से फील्डिंग और गेंदबाजी में बदलाव कर रहे थे. काफी हद तक धोनी भी वैसे ही करते हैं. हार्दिक गुजरात से पहले मुंबई की टीम का हिस्सा थे, लेकिन इस साल उन्हें मुंबई ने रिटेन नहीं किया था.

हार्दिक ने साफ कर दिया है कि IPL ट्रॉफी जीतने के बाद अब उनका अगला टारगेट टीम इंडिया के लिए वर्ल्ड कप जीतना है। हार्दिक ने चैंपियन बनने के बाद एक बातचीत में कहा कि, ‘मुझे टीम इंडिया के लिए हर हाल में वर्ल्ड कप जीतना है. इसके लिए मेरे पास जो भी है, मैं वो सब कुछ झोंकने को तैयार हूं. मेरी पहचान टीम इंडिया से है. मेरे लिए टीम इंडिया के लिए खेलना एक सपना पूरा होने जैसा था. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि मैं भारत के लिए कितना मैच खेलता हूं, लेकिन जब भी मैं अपनी टीम को रिप्रेजेंट करूंगा, ये मेरे लिए गर्व की बात होगी। जो भी प्यार और सपोर्ट मुझे मिला है. वो भारत के लिए खेलने के लिए ही मिला है. इसलिए मैं हर हाल में टीम इंडिया के लिए वर्ल्ड कप जीतना चाहता हूं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

धर्मशाला टेस्ट के लिए जसप्रीत बुमराह की टीम इंडिया में वापसी

आयुष राज बीसीसीआई ने सात मार्च से शुरू होने वाले इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के अंतिम टेस्ट के...

वेलिंगटन में पहले टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने जड़ी सेंचुरी

आयुष राज वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन कैमरून ग्रीन ने 155 गेंदों का...

न्यूज़ीलैंड ने पहले ही दिन चटका लिए ऑस्ट्रेलिया के नौ विकेट

~आशीष मिश्रा वेलिंगटन में खेले जा रहे न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले टेस्ट मैच का पहला दिन मेहमान...

धर्मशाला में यशस्वी विराट और गावसकर के रिकॉर्डों को छोड़ सकते हैं पीछे

यशस्वी जायसवाल छोटी उम्र का बड़ा खिलाड़ी बनने की ओर अग्रसर हैं। वह रांची में विराट के एक...