अमेरिका को चुकाना है कनाडा से 180 साल पुराना हिसाब

Date:

Share post:

पारखी
कनाडा और अमेरिका की टीमों के बीच क्रिकेट की बहुत पुरानी राइवलरी है।
1844 में कनाडा और अमेरिका की क्रिकेट टीमों के बीच पहला इंटरनेशनल मैच
खेला गया। यह मैच 24 से 26 सितम्बर तक मेनहटन में सेंट जॉर्ज क्रिकेट
क्लब, न्यूयॉर्क  में आयोजित किया गया। इस मैच में कनाडा ने 23 रन से
अमेरिका को हराया था। इस मैच को देखने के लिए कुल 20 हज़ार लोग मौजूद थे।
इस मैच के अम्पायर जेएच कोनोली, एच रसेल, आर. वालर थे। अमेरिका ने टॉस
जीतकर फील्डिंग चुनी। बारिश के कारण दूसरे दिन बारिश से खेल बुरी तरह
प्रभावित हुआ। तीसरे दिन अमेरिका के एक गेंदबाज़ जॉर्ज वहिटक्राफ्ट मैच
में उपस्थित नहीं हो सके। उनकी जगह आल्फ्रेड मार्श ने फील्डिंग संभाली।
180 साल बाद दो जून को डलास के क्रिकेट स्टेडियम में दोनों टीमें एक बार
फिर आमने सामने होंगी। टी-20 वर्ल्ड कप का आगाज इन्हीं दोनों टीमों के
मैच से होगा।
तब भले ही कनाडा ने बाज़ी मारी थी, लेकिन अब अमेरिका की टीम भारी है।
अमेरिका की कोशिश वर्ल्ड क्रिकेट के नक्शे पर अपनी मौजूदगी दर्ज कराने की
है। वर्ल्ड कप की मेजबानी उसी कोशिश का हिस्सा है।  दोनों टीमें अपना
पहला वर्ल्ड कप खेल रही हैं।  ग्रैंड प्रेयरी पर भी ये वर्ल्ड कप का पहला
मैच होगा।
पिच पर टॉस जीतने वाली टीम पहले बल्लेबाज़ी करना पसंद करेगी। अब तक इस
मैदान पर औसत स्कोर 180 है। यानी वर्ल्ड कप के ओपनिंग मुकाबले में हाई
स्कोरिंग कॉन्टेस्ट देखने को मिल सकता है। दोनों टीमों  के बीच पिछला मैच
इस साल 13 अप्रैल को न्यूयॉर्क में खेला गया था, जहां कनाडा ने पहले
बल्लेबाज़ी की और 169 रन का टारगेट दिया। अमेरिका ने यह लक्ष्य 20 ओवर में
ही हासिल करके कनाडा को 4 विकेट से हरा दिया। नीतीश कुमार ने कोरी एंडरसन
के साथ 104 रन की पार्टनरशिप की।
अब तक इन दोनो के बीच साथ मैच खेले गए हैं, जिसमें अमेरिका ने  चार और
कनाडा ने दो मैच जीते हैं। वेदर रिपोर्ट की मानें तो डलास में मैदान का
तापमान 30 डिग्री रहेगा। साथ ही बारिश होने की भी 40 फीसदी सम्भावना है।
इस बार अमेरिका की ओर से एरन जॉनसन, नवनीत धालीवाल, मोनक पटेल, हरमीत
सिंह जोरदार फॉर्म में हैं| अमेरिका के कप्तान मोनक पटेल ने कनाडा के
खिलाफ पिछले तीन मुकाबले में 120 रन बनाए हैं। नौ अप्रैल को हुए मैच में
उन्होंने 35 गेंदों में 68 रन की शानदार पारी खेली थी और तीन कैच भी लपके
थे। दोनों की पिछली सीरीज में एरन जॉनसन ने कनाडा के खिलाफ सबसे ज्यादा
124  रन बनाए थे | हरमीत सिंह कनाडा के खिलाफ सबसे सफल ऑलराउंडर हैं।
दोनों की पिछली सीरीज में वह छह विकेट हासिल करके टॉप विकेट चटकाने वाले
बॉलर रहे। कनाडा के बल्लेबाज़ धालीवाल अमेरिका के खिलाफ सबसे ज्यादा टी20
रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। धालीवाल अब तक पांच मैचों में 140 रन बना
चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

अमेरिका-साउथ अफ्रीका के मैच के साथ ही शुरुआत होगी सुपर 8 के मुक़ाबलों की

पारखी आज से टी-20 वर्ल्ड कप-2024 में सुपर-8 के मुकाबलों का आगाज हो रहा है। इस राउंड का पहला मैच...

सुपर 8 के मैच से पहले अफगानिस्तान और वेस्टइंडीज़ को मिलेगा अच्छा अभ्यास

पारखी अफगानिस्तान के खिलाफ मंगलवार को होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप के आखिरी लीग मैच से पहले वेस्टइंडीज के...

श्रीलंका ने डेथ ओवरों की ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी से जीत लिया सबका दिल

पारखी श्रीलंका ने नीदरलैंड के खिलाफ़ मैच में शानदार प्रदर्शन किया और विश्व कप के अपने अंतिम मैच में 83...

गनीमत है कि फ्लोरिडा में एक मैच का रिज़ल्ट आ गया

पारखी नासा काउंटी की पिच से लेकर फ्लोरिडा के मैदान की दुर्दशा तक टी 20 वर्ल्ड कप में जैसा...