नियमित ओपनर ही खिलाना होगा शुभमन गिल के साथ

Date:

Share post:

– Rajkumar Sharma

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद टीम इंडिया अपने ओपनर्स को लेकर काफी असमंजस में है। टीम इंडिया के सामने अब सबसे बड़ी चुनौती यही है कि इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले टेस्ट मैच में शुभमन गिल के साथ ओपनिंग में किसे मौका दिया जाए क्योंकि हाल ही में रोहित के रिप्लेसमेंट के तौर पर मयंक अग्रवाल का नाम भारतीय दल में शामिल किया गया था जबकि केएस भरत और शुभमन गिल पहले से ही बतौर ओपनर टीम में शामिल हैं।

ऐसे में अब सवाल यह खड़ा होता है कि शुभमन गिल के साथ इन दोनों में से ओपनिंग का मौका किसे दिया जाए। हालांकि मयंक अग्रवाल भारत के लिए पहले भी ओपनिंग कर चुके हैं और यहां मुकाबला इंग्लैंड के गेंदबाजों के खिलाफ उन्हीं की पिच पर है, ऐसे में टीम इंडिया चाहेगी कि वो अपने रेगुलर ओपनर्स के साथ मैदान पर उतरे लेकिन इसमें मयंक के लिए कई चुनौतियां भी आएंगी क्योंकि उन्हे जिस तरह आनन-फानन में इंग्लैंड बुलाया गया है, जिससे उन्हें प्रैक्टिस का पर्याप्त समय नहीं मिल पाया है।

वहीं रोहित के टीम में न होने से विराट कोहली पर भी काफी जिम्मेदारी आ गई हैं। अभ्यास मैच की दूसरी पारी में विराट काफी धैर्य के साथ बल्लेबाज़ी करते देखे गये जिसके बाद अब इस अहम मैच से पहले विराट काफी पॉजिटिव भी नज़र आ रहे हैं। यह टीम इंडिया के लिए काफी अच्छा संकेत है क्योंकि अगर विराट की मैच से पहले तैयारी बेहतर होती है तो वह उसे मैदान पर रनों के रूप में ज़रूर बदलेंगे। इसके अलावा टीम इंडिया के लिए कप्तानी में भी काफी चुनौतिया खड़ी होने वाली हैं क्योंकि जैसी खबरें सामने आ रही हैं कि इंग्लैंड के खिलाफ इस बड़े मैच में जसप्रीत बुमराह नए कप्तान के तौर पर कप्तानी करते नजर आ सकते हैं। ऐसे में अब बुमराह के लिए इतने बड़े मैच में कप्तानी करना काफी बड़ा चैलेंज साबित हो सकता है क्योंकि वह टीम इंडिया के प्रमुख तेज गेंदबाज हैं। अगर उन्हें कप्तानी दी जाती है तो वह कप्तानी के दबाव में किस तरह की गेंदबाजी करेंगे, इस पर सबकी नज़रें रहेंगी।

बहरहाल हम सब उम्मीद करते हैं कि एक जुलाई से इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रहे इस अहम मुकाबले से पहले रोहित शर्मा फिट हो जाएं और टीम इंडिया में जल्द से जल्द वापसी करें क्योंकि उनके फिट होने की स्थिति में टीम की कप्तानी और ओपनिंग की समस्या हल हो जाएगी।

(लेखक विराट कोहली के कोच होने के अलावा द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

अपना पहला वर्ल्ड कप यादगार बनाना चाहेगें ये खिलाड़ी

वर्ल्ड कप शुरू होने में एक हफ्ते से भी कम समय बचा है। सारी टीमें भारत पहुंच चुकी...

AFGHANISTAN SQUAD ANYLISIS : बड़ी टीमों का खेल बिगाड़ सकती है अफगानिस्तान, क्या है टीम की ताकत और क्या है कमजोरी

2015 वर्ल्ड कप से अपने वनडे वर्ल्ड कप सफर की शुरुआत करने वाली अफगानिस्तान की टीम लगातार तीसरी...

बाएं हाथ के गेंदबाज़ों की दोधारी तलवार से बचना होगा इस बार टीम इंडिया को

इस बार टीम इंडिया के टॉप ऑर्डर का बड़ा इम्तिहान है और उनके लिए इस बार भी सबसे...

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज बढ़ा सकते हैं भारत का इंतजार

इस आइसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारतीय बल्लेबाजों को जिन चुनौतियों से पार पाना होगा उनमें से एक...